उत्तराखंड में धामी की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है, विपक्षी नेताओं की जारी है भाजपा में सदस्यता अभियान …

Date:

Share post:

उत्तराखंड कांग्रेस में इस्तीफों का दौर अभी नहीं होगा खत्म कांग्रेस को और बड़े बड़े झटके धामी फिर देंगे ….

मोदी धामी से प्रभावित हैं : 72 घंटे के अंदर आठ नेताओं ने छोड़ा कांग्रेस का हाथ…

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का जलवा बरकरार है मोदी धामी के कामकाज से पूरा उत्तराखंड प्रभावित है

धामी का काम बोलता है :तीन दिन में आठ बड़े नेताओं के इस्तीफे से कांग्रेस पार्टी में हड़कंप मचा हुआ है

उत्तराखंड के जिलों में कांग्रेस मुक्त का सिलसिला जारी मोदी धामी के काम काज से प्रभावित अब तक 15 हज़ार से अधिका लोगों ने भाजपा का दामन पिछले 30 दिनों में थामा!

उत्तराखंड में धामी की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है, विपक्षी नेताओं की जारी है भाजपा में सदस्यता अभियान …

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी का जलवा बरकरार है मोदी धामी के कामकाज से पूरा उत्तराखंड प्रभावित है क्या विपक्ष, क्या बुद्धिजीवी,क्या राजनीतिक दल के दिग्गज नेता…वह सभी लगातार भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता लेने को बेकरार है . आपको बता दे… सबसे पहले उत्तराखंड में अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रही आम आदमी पार्टी उत्तराखंड मे खड़ी भी नहीं हो पाई थी कि उत्तराखंड में आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री के फैस रहे कर्नल अजय कोठियाल, सहित दीपक बाली, जोत सिंह बिष्ट, यूनुस चौधरी , हज़ारो कार्यकर्ताओं, व नेताओं ने भाजपा का दामन थामा…..

यह सिलसिला यहीं नहीं रुका….
उत्तराखंड में.. धामी की लोकप्रियता का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है….

और फिर शुरू हुआ. उत्तराखंड के जिलों में कांग्रेस मुक्त का सिलसिला…
मोदी धामी के काम काज से प्रभावित अब तक 15000 हज़ार से अधिका लोगों ने भाजपा का दामन पिछले 30 दिनों में.. थामा है…
यहां पर हम कुछ बड़े नामो का जिक्र आपसे करने वाले हैं क्योंकि लिस्ट बहुत बड़ी है….. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री जनरल खंडूरी के बेटे मनीष खंडूरी भी भाजपा का दामन थाम चुके हैं…
वह उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी के कामकाज से प्रभावित हैं
पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत की बहू अनुकृति गुसाईं ने भी कांग्रेस को टाटा बाय-बाय कह दिया., कांग्रेस से कई बार गंगोत्री के विधायक रहे विजयपाल सजवाण ने भी कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दिया…
पूर्व विधायक मालचंद ने भी कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दिया और भाजपा का दामन थामा ..
टिहरी के पूर्व विधायक धन सिंह नेगी ने भी भाजपा का दामन थाम लिया और कांग्रेस को छोड़ दिया …..
इसके साथ ही पूर्व कैबिनेट मंत्री और टिहरी विधायक दिनेश धने भी.. भाजपा में शामिल हो चुके हैं….
कांग्रेस के टिकट पर रुद्रप्रयाग से चुनाव लड़ चुकी है लक्ष्मी राणा ने भी कांग्रेस को छोड़ दिया…..
उससे पहले ब्लॉक प्रमुख महेंद्र राणा ने भी भाजपा सदस्यता ली
लोकसभा चुनाव की तारीख का ऐलान हो चुका है… लेकिन कांग्रेस में उथल-पुथल अभी भी मची हुई है.. बस जिसे देखो वही कहता नजर आ रहा है अबकी बार 400 पार…
फिर से मोदी सरकार कांग्रेस की सालों साल सेवा करने वाले तमाम लोग लगातार भाजपा का दामन थाम रहे हैं…. और थामे भी क्यों ना मोदी धामी सरकार की नीतियां इतनी ज्यादा प्रबल है कि उनको झूठलाना मुश्किल है उनके कार्य प्रणाली से खुश होकर लगातार भाजपा का दामन थामने का निर्णय राज्य का नेता ले रहा है…
कल तो दिल्ली में गजब ही हो गया… सोचिए वर्तमान विधायक ने भाजपा की सदस्यता ले ली…
जी हां राजेंद्र भंडारी जो बद्रीनाथ के विधायक है वह अब भाजपा में शामिल हो गए है…… वह भी मोदी धामी के कामकाज से प्रभावित है
सूत्र बताते हैं कि यह सिलसिला अभी और चलता रहेगा…. बहरहाल मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की नेतृत्व में लगातार उत्तराखंड विकास की नई ऊंचाइयों को छू रहा है उन्नति की ओर उत्तराखंड है,सक्षम उत्तराखंड है,आगे बढ़ता उत्तराखंड है , और हो रहा है नए उत्तराखंड का निर्माण क्योंकि यह दशक उत्तराखंड का दशक है……
और मुख्यमंत्री धामी के कुशल नेतृत्व में पांचो सीट से उत्तराखंड की देव तुल्य जनता खिलाने जा रही है यह दावा भाजपा की प्रवक्ता लगातार कर रहे हैं

उत्तराखंड कांग्रेस में इस्तीफों का दौर खत्म ही नहीं हो रहा है। लगातार कांग्रेस को दो बड़े झटके लगे। टिहरी से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके विरष्ठ नेता धन सिंह नेगी और बदरीनाथ विधायक व पूर्व मंत्री राजेंद्र सिंह भंडारी ने पार्टी छोड़ दी है वहीं, तीन दिन में आठ बड़े नेताओं के इस्तीफे से पार्टी में हड़कंप मचा हुआ है। राजेंद्र भंडारी ने दिल्ली में भाजपा ज्वाइन कर ली है। सीएम पुष्कर सिंह धामी, मंत्री पीयूष गोयल , पौड़ी सीट से उम्मीदवार अनिल बलूनी और उत्तराखंड भाजपा प्रभारी दुष्यंत गौतम ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई

*लोकसभा चुनाव से पहले तीन बार के विधायक राजेंद्र भंडारी ने कांग्रेस छोड़ कर भाजपा से नाता जोड़ लिया है*। उन्होंने *भाजपा में शामिल होने से पहले विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया* *विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूड़ी भूषण ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है*। आज निर्वाचन आयोग को इस संबंध में सूचित किया जाएगा

*तीन दिन में आठ नेताओं ने छोड़ा कांग्रेस का हाथ*

बता दे कि शुक्रवार को ही
*गंगोत्री के पूर्व विधायक विजय पाल सजवाण* और
*पुरोला के पूर्व विधायक मालचंद ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था*। फिर शनिवार को पार्टी का चर्चित चेहरा माने जाने वाली नेता *कांगेस नेता हरक सिंह रावत की पुत्रवधू अनुकृति गुसाईं ने इस्तीफा दे दिया*। पौड़ी से कांग्रेस के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष केसर सिंह नेगी ने पार्टी से त्यागपत्र दे दिया। तो वहीं, विकासखंड कोट के पूर्व प्रमुख व कांग्रेस के पूर्व प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य नवल किशोर ने भी कांग्रेस का हाथ छोड़ दिया। इसके अलावा पौड़ी ब्लॉक प्रमुख दीपक कुकसाल ने भी कांग्रेस छोड़ दी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Related articles

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने पैतृक गांव हड़खोला, डीडीहाट पहुँचकर स्वजनों और प्रिय ग्रामवासियों से भेंट की

हरे पहाड़, सौंधी मिट्टी नित बहती निर्मल धारा है, जन्मभूमि यही हमारी, ऐसा है गाँव हमारा : धामी मुख्यमंत्री...

समीक्षा के दौरान मंत्री जोशी ने मसूरी में पेयजल की समस्या के शीघ्र दुरुस्त करने के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए

मसूरी विधानसभा क्षेत्र में पेयजल एवं सीवरेज की समस्या के निदान को लेकर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने...

मुख्यमंत्री धामी के साथ सातवीं वाहिनी आईटीबीपी अधिकारी और जवानों ने भी योग किया

मुख्यमंत्री धामी ने आदि कैलाश में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर प्रतिभाग कर स्थानीय लोगों और पर्यटकों के साथ...

बद्रीनाथ क्षेत्र के विकास कार्यों को सरकार प्राथमिकता के साथ आगे बढ़ाएगी बद्रीनाथ विधानसभा की आवश्यकताओं को पूर्ण किया जाएगा : धामी

मुख्यमंत्री धामी ने गोपेश्वर में बद्रीनाथ विधानसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी राजेन्द्र सिंह भण्डारी के पक्ष में आयोजित...